2016-02-07

चीकू के फायदे : : The advantages of sapota


चीकू स्वादिष्ट होने के साथ स्वास्थ्य के लिए भी कई तरह से लाभप्रद है। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन-ए व सी, फॉस्फोरस, आयरन आदि पोषक तत्त्व पाए जाते हैं। यदि दूध के साथ इसे खाया जाए तो इसके स्वास्थ्य लाभ अधिक बढ़ जाते हैं। ये खासतौर पर गर्भवती और फीड कराने वाली महिलाओं के लिए अच्छा होता है। इससे उन्हें कई सारे पोषक तत्व मिल जाते हैं। लिखता हूँ चीकू के बेशकीमती फ़ायदों के विषय मे-


  1. यह गुर्दे व हृदय से जुड़े रोगों से भी बचाव करता है। आयरन से भरपूर चीकू शरीर में खून की कमी दूर करता है।  इसमें कार्बोहाइड्रेट व महिलाओं के लिए जरूरी पोषक तत्त्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।
  2. यह आंतों को मजबूत बनाता है, भूख बढ़ाता है व यूरिन की कमी व जलन दूर करता है। इसमें विटामिन-ए होता है जो आंखों से जुड़ी समस्या को दूर करने में लाभकारी है। इसमें ग्लूकोज काफी मात्रा में पाया जाता है जो शरीर को एनर्जी देने का काम करता है। चीकू में टैनिन प्रचुर मात्रा में होता है जिस वजह से यह बेहतर एंटीइनफ्लेमेट्री एजेंट है और पेट संबंधी परेशानियों में फायदेमंद है।
  3. गर्भवती व फीड कराने वाली महिलाओं के लिए पोषक तत्त्वों का अच्छा विकल्प है। इसमें मौजूद कैल्शियम व फॉस्फोरस हड्डियों को मजबूत बनाने में मददगार हैं।
  4. आंखों के लिए अच्छा -चीकू में विटामिन ए अच्छी मात्रा में पाया जाता है जिसकी वजह से बुढ़ापे में होने वाली आखों की समस्यों को भी दूर किया जा सकता है।
  5. कैंसर के ख़तरे से बचाता है- चीकू में विटामिन ए और बी अच्छी मात्रा पाया जाता है, और इसमें एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर और अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो जो कैंसर से बचाता है। विटामिन ए फेफड़ों और मुँह के कैंसर से बचाता है।
  6. कब्ज से राहत चीकू में फाइबर (5.6/100g) मात्रा में पाया जाता है, इस लिए इसमें अच्छी मात्रा  में रेचक  पाया जाता है जो कब्ज से राहत दिलाता है और अन्य संक्रमण से लड़ने की शक्ति देता है।
  7. एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण -पॉलीफेनोलिक एंटीऑक्सीडेंट के होने के कारण चीकू में कई एंटी-वायरल, एंटी-परसिटिक और एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। एंटीओक्सिडेंट होने के कारण यह शरीर में बैक्टीरिया को आने से रोकता है, विटामिन सी हानिकारक मुक्त कण को नष्ट करता है, और पोटेशियम, आयरन, फोलेट, और नियासिन पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है।
  8. मानसिक स्वास्थ्य - चीकू दिमाग को शांत रखने में बहुत मदद करता है। यह दिमाग की तंत्रिकाओं को शांत और तनाव को कम करने में मदद करता है। इस प्रकार, यह अनिद्रा, चिंता और अवसाद से पीड़ित व्यक्तियों के लिए बहुत लाभ दायक होता
  9. गुर्दे की पथरी -चीकू के फल के बीज को पीस का खाने से गुर्दे की पथरी को द्वारा पेशाब निकाल देता है। यह साथ ही यह गुर्दे के रोगों के से भी बचाता है।
  10. चमकदार त्वचा- चीकू आपकी त्वचा की चमक बनाये रखने में भी काफी मदद करता है। इसमें विटामिन ई पाया जाता है जो आपकी त्वचा को नमी देते है और जिससे आपकी त्वचा स्वस्थ और सुंदर हो जाती है। इसलिए, चीकू आपकी त्वचा के लिए लाभ दायक है।
  11. . बालों को झड़ने से रोकता है- चीकू के बीज का तेल सिर की त्वचा को पोषण और स्वस्थ बनाता है, और बालों को बढ़ने में भी मदद करता है। यह सर में होने वाली सूजन की वजह से बाल गिरने के उपचार में भी कारगर है।
  12. . झुर्रियों को कम करे - चीकू में एंटीऑक्सीडेंट अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को रोकने में सहायक है क्योंकि यह फ्री रेडिकल्स को समाप्त कर देता है, और यह झुर्रियों को भी कम कर देता है।
  13. एन्टी-इंफ्लेमेटरी एजेंट- चीकू में टैनिन की अच्छी मात्रा पाई जाती है जिसकी वजह से यह एक अच्छा एन्टी-इंफ्लेमेटरी एजेंट है। दूसरे शब्दों में कहा जाये तो यह कब्ज, दस्त, और एनिमिया जैसी बिमारिओं से बचाता है, साथ ही आंतों की शक्ति बढ़ता है, हृदय और गुर्दे के रोगों को भी होने से रोकता है। 
  14. गर्भावस्था के दौरान लाभदायक - कार्बोहाइड्रेट और आवश्यक पोषक तत्वों की अच्छी मात्रा पाए जाने की वजह से यह गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए चीकू बहुत फायदेमंद होता है। चीकू गर्भावस्था के दौरान होने वाली अन्य कमजोरी जैसे मतली और चक्कर जैसी दिक्कतों को भी कम करता है।
  15. दस्त  से राहत -चीकू में एंटी- डाइरियल के गुण भी पाए जाते हैं। पानी में चीकू को उबाल कर बनाये गए काढ़े को पीने से दस्त से आराम मिलती है। यह बवासीर और पेचिश से भी राहत पहुंचता है।








.