2016-03-21

गुलाब जल के फायदे : Benefits of Rose Water

   
गुलाब जल एक प्राकृतिक सौंदर्य प्रसाधन है जिसको लगातार लगाने से कई तरह की स्किन  संबधी समस्याएँ  खतम हो जाती हैं। चाहे सन बर्न हो गया हो या फिर स्किन  को साफ करना हो, गुलाब जल काफी फायदेमंद होता है। साथ ही पुरूष इसे दाढ़ी  बनाने के पश्चात प्रयोग कर सकते हैं|
टोनर- गुलाब जल के प्रयोग  का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह एक बेहतरीन  टोनर भी है। यह एक प्राकृतिक अस्ट्रिन्जन्ट होता है इसलिए यह टोनर के रुप में प्रयोग किया जाता है। रोज़ रात को इसे अपने चेहरे पर लगाएं और देखे की आपकी स्किन  कुछ ही दिनों में टाट हो जाएगी और झुर्रियां चली जाएगीं।





मुंहासों को दूर करने के लिए गुलाब जल से बेहतर कुछ भी नहीं -

 मुंहासों की समस्या को दूर करने के लिए गुलाब जल का इस्तेमाल करना बहुत ही फायदेमंद होता है. यह त्वचा को साफ करने के साथ ही अपने एंटी-बैक्टीरियल गुण से संक्रमण भी दूर करता है.
आज की बदलती और अव्यवस्थित जीवन शैली में मुंहासों की समस्या काफी सामान्य हो गई है. त्वचा पर मौजूद सूक्ष्म रंध्रों (पोर्स) के बंद हो जाने से, ऑयली त्वचा होने की वजह से, बैक्टीरिया का संक्रमण होने की वजह से, तनाव के चलते, हॉर्मोन्स के असंतुलित हो जाने की वजह से और शराब व सिगरेट के अति सेवन की वजह से मुहासों की समस्या हो जाती है.
गुलाब जल त्वचा के प्राकृतिक पीएच स्तर को बनाए रखने में मददगार होता है और मुंहासों के बनने के लिए उत्तरदायी बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है. हालांकि यह बेहद धीमी गति से अपना असर दिखाता है, इसलिए अगर आप मुंहासों की समस्या के लिए गुलाब जल का इस्तेमाल कर रहें हैं तो आपको पर्याप्त धैर्य रखने की जरूरत होगी. जिन लोगों की त्वचा अति संवेदनशील है, उनके लिए गुलाब जल के इस्तेमाल से बेहतर कुछ भी नहीं.
गुलाब जल को आप रुई में भिगोकर भी चेहरे पर लगा सकते हैं लेकिन आप चाहें तो गुलाब जल को इन तरीकों से भी इस्तेमाल में ला सकते हैं -
 संतरे के छिलके के पाउडर को गुलाब जल में मिलाकर लगाएं-
संतरे के छिलके को धूप में सुखाकर उसे पीस लें. यह पाउडर त्वचा में निखार लाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इसमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो मुंहासों की समस्या को दूर करने में मददगार होता है. इस पाउडर में थोड़ी सी मात्रा में गुलाब जल मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें. इस पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें. उसके बाद गुनगुने पानी से चेहरा साफ कर लें.





गुलाब जल तैयार करने की विधि-

1) सबसे पहले एक कंटेनर में पानी लें और उसमें गुलाब की ताजा पंखुडियों को डाल कर उबलने के लिए रखें। 2) जब यह भली प्रकार  से उबल जाए तब बरतन को कवर करके ठंडा होने के लिए रख दें। अब इसको फ्रिज में 24 घंटे के लिए ठंडा होने के लिए  रखें। 
3) अब इसको फ्रीज़ से निकाल कर पानी छान लें और किसी हवा बंद शीशी में रख दें। यह हमेशा ताजा बना रहे इसके‍ लिए इसको फ्रिज में ही रखें।

 अदरक के साथ गुलाब जल को मिलाकर लगाना भी है फायदेमंद-
अदरक में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाया जाता है. यह मुंहासों की समस्या के लिए बेहद कारगर उपाय है. मुंहासों की समस्या को दूर करने के लिए और भविष्य में उन्हें पनपने से रोकने के लिए इस मिश्रण का इस्तेमाल करना बेहद फायदेमंद होता है.
 मुलतानी मिट्टी के साथ गुलाब जल का मिश्रण-
रूप निगा।खारने के लिए मुलतानी मिट्टी का इस्तेमाल सदियों से किया जाता रहा है. इसे गुलाब जल के साथ मिलाकर लगाने से एक ओर जहां त्वचा में निखार आता है वहीं त्वचा से जुड़ी कई समस्याएं भी दूर हो जाती हैं.
 नींबू के साथ गुलाब जल मिलाकर-
नींबू में अम्लीय गुण होता है जबकि गुलाब जल में ठंडक देने का. जब इन दोनों को साथ में मिलाया जाता है तो यह एक बेहतरीन उत्पाद बन जाता है. मुंहासों को बढ़ने से रोकने और उनकी रोकथाम के लिए यह एक बेहतरीन उत्पाद है.नींबू के रस की जितनी भी मात्रा आप लें, गुलाब जल की मात्रा उसकी दोगुनी होनी चाहिए. इस मिश्रण को चेहरे पर पंद्रह मिनट तक लगाकर छोड़ दें और फिर साफ पानी से चेहरा साफ कर लें.
*रुई लें और उसे गुलाब जल  में डुबो कर अपने पूरे चेहरे और गर्दन पर लगाएं। यह न केवल चेहरे को अंदर से साफ करेगा बल्कि रोम छिद्र  को भी खोलेगा और स्किन को  फ्रेश बना देगा।
सिरदर्द में भी फायदेमंद-
 सिरदर्द से परेशान लोग जो रोजाना गोली लेकर काम चलाते हैं वे फ्रिज में रखे एकदम ठंडे गुलाबजल में भीगे कपड़े या रूई को 40-45 मिनट तक सिर पर रखें। काफी आराम मिलेगा|