इन्फेक्शन लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
इन्फेक्शन लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

31.5.16

दाद से निजात पाने के उपाय




    दाद का इन्फेक्शन बहुत ख़राब फंगल इन्फेक्शन होता है ।अगर आपको ये इन्फेक्शन है तो आप अपने शरीर के किसी भी हिस्से पर लाल गोल निशान देख सकते हैं। ये बहुत तेज़ी से फेलता है जिस जगह पर हुआ है उसके आस पास की जगह पर भी फैलने लगता है। इसका इन्फेक्शन ज्यादा बढ़ने पर आप शरीर पर उभार और फुंसियाँ भी देख सकते हैं।
अगर आपको शरीर पर लाल धब्बे दीखते हैं और खुजली होती है तो सावधान हो जाइए ये दाद है अगर ये आपके नाख़ून पर हुआ तो आपका नाख़ून जड़ से निकल सकता है बालों की जड़ो मे हुआ तो आपके बाल उस जगह से झड़ सकते हैं। ये आपको बालों की जड़ो ,पैर ,अंदरुनी भागो में हो सकता है।

पिपली  के गुण प्रयोग लाभ 

*हमेशा अपने शरीर को साफ़ रखें ।शरीर को गिला न रखें हमेशा सुखा रखने की कोशिश करें। एंटी फंगल या मेडिकैटेट साबुन का प्रयोग करें शैम्पू का रोज़ाना इस्तेमाल करें। जहाँ तक हो सके कॉटन के कपडे पहने । ज्यादा चुस्त कपडे ना पहनें। दूसरों के कपडे ,तोलिया ,बेड शीट ,ब्रश का उपयोग ना करें। अगर किसी को ये इन्फेक्शन है तो उनसे दुरी रखें हाथ ना मिलाएं क्योंकि ये इन्फेक्शन फेलता है। अगर आपके घर मे कोई जानवर है और उसे ये इन्फेक्शन है तो उस पर पट्टी कभी ना बांधें और तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएँ । आईये आपको इससे छुटकारा पाने के कुछ उपाय बताते हैं ।

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*


शरीर की त्वचा पर कहीं भी चकत्ते हो तो उस पर नींबू के टुकड़े काटकर फिटकरी भरकर रगड़ने से चकत्ते हल्के पड़ जाते हैं और त्वचा निखर उठती है।
*छोटे छोटे राई के दाने दाद को ठीक करने में सहायक है। राई को 30 मिनट तक पानी में भिगो कर रख दें। फिर उसका पेस्ट बनाकर दाद की जगह पर लगा लें।
*एलोवेरा का अर्क हर तरह के फंगल इन्फेक्शन को ठीक कर देता हैं । इसे तोड़कर सीधे दाद पर लगा लीजिये ठंडक मिलेगी। हो सके तो रात भर लगा कर रखें ।
*नींबू के टुकड़े को काटकर दाद पर मलने से दाद की खुजली कम हो जाती है और थोड़े ही दिनों में दाद बिल्कुल मिट जाता है। इसको शुरूआत में दाद पर लगाने से कुछ जलन सी महसूस होती है।

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

*टमाटर खट्टा होता है। इसकी खटाई खून को साफ करती है। नींबू में इसी तरह के गुण होते हैं। रक्तशोधन (खून साफ करना) के लिए टमाटर को अकेले ही खाना चाहिए। रक्तदोष (खून की खराबी) से त्वचा पर जब लाल चकत्ते उठे हों, मुंह की हडि्डयां सूज गई हो, दांतों से खून निकल रहा हो, दाद या बेरी-बेरी रोग हो तो टमाटर का रस दिन में 3-4 बार पीने से लाभ होता है। कुछ सप्ताह तक रोजाना टमाटर का रस पीने से चर्मरोग ,त्वचा के रोग ठीक हो जाते हैं।
*नारियल का तेल दाद को ठीक करने में बहुत उपयोगी है। ख़ास कर जब आपके सर की जड़ो में इन्फेक्शन हुआ हो तो ये एक बहुत बेहतरीन तरीका है।
*लहसुन में प्राकृतिक रूप से एंटी फंगल तत्व होते हैं। जो की कई तरीके के फंगल इन्फेक्शन को ठीक करने में सहायक है। जिसमे से दाद भी एक है। लहसुन को छिल कर उसके छोटे छोटे टुकड़े कर दाद पर रख दीजिये जल्दी आराम मिलेगा।

पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि 

*अंजीर का दूध लगाने से दाद मिट जाते हैं।
*पके केले के गूदे में नींबू का रस मिलाकर लगाने से दाद, खाज, खुजली और छाजन आदि रोगों में लाभ होता है।
*दाद, खाज और खुजली में मूंगफली का  तेल लगाने से आराम आता है।
*चकबड़ और हरड़ को कांजी के साथ पीसकर लेप करने से दाद कुछ ही समय में ठीक हो जाता है।
*सुपारी को पानी के साथ घिसकर लेप करने से उकवत, और चकत्ते आदि रोग दूर हो जाते हैं।
*एक  कप गाजर का रस रोजाना पीने से त्वचा के रोग ठीक हो जाते हैं।
*त्वचा के किसी भी तरह के रोगों में मूली के पत्तों का रस लगाने से लाभ होता है।

अन्य उपयोगी आलेख-

पिपली  के गुण प्रयोग लाभ 

हस्त  मेथुन जनित यौन दुर्बलता के उपचार 

वर्षा ऋतु के रोग और आयुर्वेदिक घरेलू उपचार 

स्त्रियों के योन रोग : कारण लक्षण और उपचार