पेट में गैस लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
पेट में गैस लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

13.4.19

लौकी के अनुपम फायदे

                                                 
अक्सर आपने कहते सुना होगा कि लौकी की सब्जी कोई खाने की चीज है क्या। किसी को भी लौकी की सब्जी पसंद नहीं होती। यहां तक की लौकी पर कई तरह के जोक्स भी बनाए गए हैं। लेकिन लौकी कई औषधीय गुणों से भरपूर होती है। अगर आप लौकी के जूस के फायदे जान गए तो आप भी आज से ही लौकी का जूस पीना शुरू कर देंगे। जिन लोगों को लौकी पसंद नहीं है उन्हें बता दें कि इसमें 96% पानी और बॉडी के लिए जरूरी न्यूट्रिएंट्स जैसे फास्फोरस, विटामिन्स, सोडियम, आयरन और पोटैशियम होता है जो एनीमिया, हार्ट प्रॉब्लम और डायबिटीज जैसी बीमारियों से बचाने में मददगार है। इसके अलावा और भी कई सारे फायदें है जो आपको आगे बता रहें है-
पानी से भरपूर ठंडी लौकी खासकर गर्मियों के मौसम में सेहत के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है। हरी सब्जियों में लौकी शायद सबसे जल्दी पकती है। लौकी में लगभग 96 प्रतिशत पानी होता है। यानी सलाद में जो काम खीरा करता है, सब्जी में वही काम लौकी करती है। लौकी ठंडी होती है। और यह हमारे लीवर को भी दुरुस्त रखती है। इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है, जिस वजह से इसे आसानी से पचाया जा सकता है। आज यह हमारी खास हरी सब्जी है, जिसे शाकाहारी लोग बेहद पसंद करते हैं।
पेट के लिए फायदेमंद
लौकी गर्मियों के मौसम में आपके पेट के लिए काफी अच्छी रहती है, और पेट में गैस बनने जैसी समस्या को दूर करती है। इसमें फाइबर होने की वजह से यह अल्सर, पाइल्स और गैस के रोगियों के लिए काफी फायदेमंद सब्जी है। क्योंकि फाइबर होने के कारण लौकी जल्दी पच जाती है, और शरीर में गैस की समस्या नहीं होती।
मोटापा दूर-
*लौकी का जूस मोटापा कम करने के लिए फायदेमंद है। इसलिए अगर आप वजन कम करना चाहते है तो रोजाना लौकी के जूस का सेवन करें। साथ ही यह पाचन क्रिया को भी ठीक रखता है।
इसके अलावा बुखार होने, उल्टी-दस्त होने से भी शरीर में पानी की कमी हो जाती है। ऐसे समय में अगर मरीज को लौकी जूस पिलाया जाए तो शरीर में पानी की कमी दूर होगी और आगे भी कभी पानी की कमी नहीं होगी।केवल पर्याप्त मात्रा में लौकी क़ी सब्जी का सेवन कब्ज को भी दूर कर देता है और इससे पेट में गैस नहीं बनती। 
पेशाब से जुड़ी समस्याएँ-
*पेशाब से जुड़ी अनियमितताओं के ईलाज में लौकी फायदा करती है। अगर पेशाब करते समय किसी को जलन महसूस होती है तो डॉक्टर उसे लौकी खाने या उसका सूप पीने की सलाह देते हैं। लौकी हमारे लीवर को भी दुरुस्त रखती है। अगर किसी का लीवर संक्रमित है और ठीक से काम नहीं कर रहा है तो लौकी खाना उसके लिए फायदेमंद होता है।
ब्लड प्रेशर 
*आजकल कई लोगों को ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती है। आज के दौर में हाई बीपी एक आम समस्या बन चुकी है। लौकी में प्रचुर मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है और पोटैशियम ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है।
आसानी से है पाचक
इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है, जिस वजह से इसे आसानी से पचाया जा सकता है। लौकी पेट साफ करने में भी बड़ी लाभदायक साबित होती है और शरीर को स्वस्‍थ्‍य और शुद्ध भी बनाती है। लौकी वीर्य वर्धक, पित्त तथा कफनाशक है। लौकी के बीज का तेल कोलेस्ट्रॉल को कम करता है तथा हृदय के लिए अच्छा है।
बीमारियों से बचाये
यह रक्त की नाडि़यों को भी तंदुरस्त बनाता है। लौकी का उपयोग आंतों की कमजोरी, कब्ज, पीलिया, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, मधुमेह, शरीर में जलन या मानसिक उत्तेजना आदि में बहुत उपयोगी है।
खासतौर पर गर्मी में लौकी का जूस गुणकारी होता है। इसकी तासीर ठंडी होती है इसलिए गर्मी में लौकी का जूस पीने की सलाह दी जाती है। आधा कप लौकी का रस दो चम्मच शहद मिलाकर सोते समय पीने से मानसिक तनाव कम होता है।

3.10.17

हाजमा ताकत बढ़ाने के बेहद असरदार नुस्खे // Extremely effective tips for increasing digestive power



1.काला नमक, जीरा और अजवाइन बराबर मात्रा में ले और मिक्स करके इस मिश्रण का एक चम्मच पानी के ले।
2. इलायची के बीजों को पीस कर चूर्ण बना ले और बराबर मात्रा में मिश्री मिला ले। तीन ग्राम मात्रा में ये देसी दवा दिन में दो से तीन बार खाए।
3. एक छोटा टुकड़ा अदरक ले और इस पर नींबू का रस डाल कर चूसे, इस घरेलू नुस्खे से पाचन क्रिया बढ़ती है।
4. आँवले का पाउडर, भूना हुआ जीरा, सौंठ, सेंधा नमक, हींग और काली मिर्च मिलाकर इसकी छोटी छोटी वडी बनाकर सेवन करे। इस उपाय से पाचन शक्ति मजबूत होती है और इससे भूख भी बढ़ती है।

5. अजवाइन के पानी से भी पाचन मजबूत होता है।
6.पाचन शक्ति बढ़ाने के योग-
भुजंगासन
पश्चिमोत्तासन
हलासन
धनुरासन
नौकासन
इन आसनों को करने से पहले आप किसी योग गुरु की मदद से इन्हे सही तरीके से करने की जानकारी ले।
7.  हरी सब्जियाँ पालक, मेथी पाचन सुधारने का अछा उपाय है, इनके सेवन से क़ब्ज़ का उपचार होता है और शरीर को ज़रूरी पोषण मिलता है।

पाचन क्रिया बलवान बनाने के उपाय-

8. संतरे का रस पीने से पाचन क्रिया दरुस्त होती है।
9. अंकुरीत गेंहू, मूँग दाल और चने खाने से भी पाचन शक्ति ठीक रहती है।
10. तांबे के बर्तन में रखा पानी सुबह खाली पेट पीने से पाचन शक्ति बढ़ती है।
11. विटामिन सी और फाइबर युक्त चीज़े खाने से डिजेस्शन की प्राब्लम से छुटकारा मिलता है।
12. मूली का सेवन पेट में गैस की समस्या में रामबाण इलाज है। मूली पर काला नमक लगाये और सलाद जैसे खाये। मूली की सब्जी और रस पिने से भी फायदा होता है। इसे रात को ना खाए।
13.  पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए पानी अधिक पिए। खाना खाने से आधा घंटा पहले गुनगुना पानी पीने से पाचन मजबूत होता है।
14.संतरे का रस पीने से पाचन क्रिया दरुस्त होती है।
15.  पुदीने का प्रयोग पेट की कई बीमारियों के उपचार में होता है। रोजाना इसका सेवन करने से पेट की बीमारियों से छुटकारा मिलता है।
16.हरी सब्जियाँ पालक, मेथी पाचन सुधारने का अछा उपाय है, इनके सेवन से क़ब्ज़ का उपचार होता है और शरीर को ज़रूरी पोषण मिलता है।
17.खाने में फलों का इस्तेमाल अधिक करे। फलों में पपीता, अमरूद, अंजीर, संतरे और अनार खाए। इनमें फाइबर अधिक मात्रा में होता है जिससे पाचन क्रिया ठीक होती है और पेट भी साफ़ रहता है।

दालचीनी के अद्भुत फायदे 

अन्य उपाय- 

1. पाचन क्रिया सुधारने के लिए सलाद अधिक खाए। सलाद में टमाटर, कला नमक और नींबू का प्रयोग करे।
लगातार कई घंटों तक एक ही जगह पर ना बैठे और अगर आपने काम की वजह से आपको एक ही जगह बैठना पड़ता है तो एक दो घंटे में पांच से दस मिनट का ब्रेक ले और कुछ कदम चले।
2. सुबह दोपहर और रात का भोजन सही समय पर करे।
3. खाना चबा चबा कर खाए।
4. तला हुआ और मसालेदार खाने से परहेज करे।
5. रात को देर से ना सोए, छह से आठ घंटे की नींद ले।
5. धूम्रपान, तंबाकू और शराब से दूर रहे।

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचा