भिंडी से कब्‍जहरण लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
भिंडी से कब्‍जहरण लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

2016-12-15

भिंडी के हैरान करने वाले फायदे //Okra surprising benefits

    

भिंडी कोई मौसमी पौधा नहीं है यह हर मौसम में उगाया जाता है और खाया जाता है यह खाने में कई तरीको से इस्तेमाल किया जाता है जैसे के सब्जी , आचार या सूप में | यह खाने में उतना ही स्वादिष्ट लगता है चाहे वो गर्मियों का सीजन हो या सर्दियों का |
भिंड़ी जो दुनिया के कई हिस्सों में “लेड़िज फिंगर या Okra” के रुप में जाना जाता है | अगल अलग देशो में इसका नाम बेशक अलग हों लेकिन काम एक जैसा ही है| इसे अक्सर कैरिबियन से लेकर चीन तक के व्यंजनों में उपयोग किया जाता है और इसकी लोकप्रियता हर समय बढ़ती जा रही है, खासकर जब से इस सब्जी का इस्तेमाल अचार के रुप में, सूप की एक सामग्री के तौर पर किया जाता है, इसे इसके तेल के लिए भी उपयोग किया जाता है जिसे निकाला जा सकता है तथा भिंड़ी के तेल के रुप में इस्तेमाल किया जाता है।
भिंडी कैसे डाइबीटिज को कंट्रोल करता है

शीतकाल मे बढ़ाएं अपनी यौन शक्ति

लो ग्लाइसेमिक इन्डेक्स- जिन भोज्य पदार्थों मे लो ग्लाइसेमिक इन्डेक्स होता है तो शुगर के निकलने की गति को कम करता है।
विटामिन और मिनरल का स्रोत- भिंडी में विटामिन सी होता है जो इम्युनिटी को बढ़ाता है। जो लोग मधुमेह के कारण कई प्रकार के इन्फेक्शन और रोग से पीड़ित होते हैं, उनको रोकने में मदद करता है।
एन्टी-डाइबीटिक गुण- कई अध्ययनों से यह पता चला है कि सब्ज़ियों में एक प्रकार का एन्जाइम होता है जो कार्बोहाइड्रेट को मेटाबॉलाइज करने, इन्सुलिन लेवल के उत्पादन को बढ़ाने, अग्न्याशय (pancreas) में बीटा सेल्स को बेहतर बनाने में जो इन्सुलिन के उत्पादन को बढ़ाने में सहायता करता है।

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

कोलन कैंसर
-कोलन कैंसर को दूर करने में भिंडी बहुत फायदेमंद होती है। यह आंतों में मौजूद विषैले तत्‍वों को दूर करने का काम करती है। इससे आंतें पहले से बेहतर तरीके से काम करती हैं और उनके काम करने की क्षमता बढ़ जाती है। इससे कोलन कैंसर का खतरा कम हो जाता है।

वेट कंट्रोल- क्या आपको पता है कि वज़न को कंट्रोल रखने से भी डाइबीटिज के समस्याओं से बचा जा सकता है और इसको मैनेज किया जा सकता है। भिंडी में लो कैलोरी होने के कारण ये वेट को कंट्रोल करने में अहम् भूमिका निभाता है- 100 ग्राम भिंडी में मात्र 33 कैलोरी होता है।
एन्टीऑक्सिडेंट का अच्छा स्रोत- न्यूट्रिशन जर्नल में प्रकाशित अध्ययन से यह पता चला है कि दूसरे सब्ज़ियों की तुलना में ओकरा या भिंडी में एन्टीऑक्सिडेंट का गुण ज्यादा होने का फ्री रैडिकल्स से होने वाले क्षति को रोकता है और कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोककर शरीर के ज़रूरी ऑर्गन्स को बचाता है, जो ब्लड-शुगर के लेवल के असंतुलन के कारण होता है।

वीर्य की मात्रा बढ़ाने और गाढ़ा करने के उपाय 

भिंडी को अपने डायट में कैसे करेंगे शामिल-
ओकरा वाटर-
भिंडी को अच्छी तरह से धोकर पहले टुकड़ों में काट लें। अब टुकड़ों को एक गिलास पानी में रात भर डुबोकर रख दें। अगले दिन सुबह इस पानी को पी लें। यह पानी इन्सुलिन जैसा ही काम करता है और ब्लड-शुगर लेवल को निंयत्रित करता है।
उबला हुआ भिंडी
भिंडी को उबालकर उस पर नमक और नींबू डालकर स्नैक की तरह खा सकते हैं।
कब्‍ज-
भिंडी कब्‍ज को भी दूर करती है। यह डायटरी फाइबर का सबसे अच्‍छा स्रोत मानी जाती है, जो हमारी पाचन क्रिया के लिए काफी लाभकारी होती है। यह घुलनशील फाइबर शरीर में मौजूद पानी में घुल जाते हैं, जिससे हमारी पाचन क्रिया दुरुस्‍त हो जाती है ।

*प्रोस्टेट बढ़ने से मूत्र रुकावट की अचूक  औषधि*

   सब्ज़ी के रूप में भिंडी- 
आलू भिंडी, भिंडी मसाला, मिक्सड वेज़टबल भिंडी आप किसी भी तरह से भिंडी खा सकते हैं। हाँ, तेल और मसाले का ध्यान रखें, ताकि सब्ज़ी की पौष्टिकता बनी रहे।
भिंडी के टेस्ट के बारे में तो आपको बेशक पता होगा लेकिन भिंडी के पानी Okra water के फयदों के बारे में आपको नहीं पता होगा | भिंडी के पानी से शुगर , किडनी की बीमारियाँ , दमा और कोलेस्ट्रॉल जैसे जानलेवा बीमारियों का इलाज़ संभव है |
अब  बताते हैं  भिंडी का पानी कैसे तैयार किया जाए |



सामग्री
4 भिंडी
1 कप साफ़ पानी
विधि
पहले भिंडी का उपरी और निचला हिस्सा काट दीजिये और भिंडी को बीच में से काट दीजिये | फिर भिंडी को एक कप पानी में डाल दीजिये और पूरी रात ऐसे ही छोड़ दीजिये | और दूसरे दिन इस मिश्रण का निचोड़ एक गिलास में निकाल लीजिये और उस निचोड़ में थोडा साफ़ पानी डाल लीजिये |
रोजाना सुबह खाली पेट (खाने से आधा घंटा पहले) इस मिश्रण के सेवन से आपको कुछ ही दिनों में हैरान करने वाले नतीजे प्राप्त होंगे |