डाईबिटीज़ मे कद्दू खाने के लाभ लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
डाईबिटीज़ मे कद्दू खाने के लाभ लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

5.10.16

डाइबिटीज़ (शुगर) मे कद्दू खाने के लाभ// Benefits of pumpkin in Diabetes

डायबटीज एक कॉम्प्लीकेटेड बीमारी है जिसमें हर बार एतहियात बरतनी पड़ती है। यह बीमारी साइलेंट किलर होती है, इसमें शरीर में ब्लड़ सुगर की मात्रा, नियंत्रण में नहीं रहती है। डायबटीज से ग्रसित व्यक्तियों को खाने-पीने के मामले में बेहद सावधानी बरतनी पड़ती है। इस बीमारी से ग्रसित होने पर प्रीर्जवेटिव फूड खाने से बचना चाहिए।

पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि 

अगर आप डायबटीज से ग्रसित है तो मसूर की दाल, ब्रोकली, सॉल्मन, चिया सीड और सारडीनाइस आदि का सेवन करें, जो आपके लिए फायदेमंद होता है। इस आर्टिकल में हम आपको बताना चाहते है कि कद्दू का सेवन, डायबटीज के रोग में फायदेमंद होता है। आप इसे कई तरीके से सेवन कर सकते हैं, इसको भाप में पकाकर खाने से अधिक लाभ मिलता है, आप चाहें तो इसे लोहे की कढ़ाई में पकाकर खाएं, इससे आपको आयरन भी मिलेगा और आपको सब्जी में स्वाद भी आएगा। कद्दू का सूप, पाइस और पूरी भी बनती है।

*किडनी फेल रोग का अचूक इलाज*

अगर आप डायबिटीज़ और ब्लड प्रेशर के मरीज़ हैं तो भूल जाइये कि आप अपनी पसंद का कोई भी खाना खा सकते हैं। इन बीमारियों के साथ जीने के लिए आपको काफी परहेज़ करना पड़ता है। और जिसको ये दोनों बीमारियां एक साथ हो जाएं उसके लिए मामला और मुश्किल हो जाता है। जिस खाने की चीज़ में नमक और ग्लाइसेमिक इंडेक्स ज़्यादा होता है, वो आपके लिए बिल्कुल मना हो जाते हैं। ऐसे में चटपटे स्नैक्स जैसे नमकीन, पैकेट बंद चिप्स, फ्रेंच फ्राइज़ वगैरह तो आप भूल ही जाइये।
डायबटीज मरीजों को कद्दू के सेवन के निम्नलिखित लाभ हैं:
1) भरपूर मात्रा में विटामिन सी कद्दू में विटामिन सी पर्याप्त मात्रा में होता है। इससे शरीर में इंसुलिन की मात्रा अच्छी हो जाती है और बढ़ी हुई डायबटीज नियंत्रण में आ जाती है।
2) आयरन और असंतृप्त वसा कद्दू के बीजों में आयरन की पर्याप्त मात्रा होती है और इसमें वसा भी नहीं होता है जो दिल के लिए भी अच्छा होता है। अगर आप इसके क्रंची स्नैक भी बनाकर खाएं, तब भी आपको किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होगा।
3) एंटीऑक्सीडेंट शरीर में इंसुलिन की मात्रा कम होने पर डायबटीज की शिकायत हो जाती है, ऐसे में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में मिलने पर इस कमी की भरपाई की जा सकती है। कई शोध अध्ययनों से ये बात सामने आई है कि कदृदू खाने से उपापचय दुरूस्त रहता है और कुछ हद तक बीमारी सही भी हो जाती है।
4) फॉलिक एसिड कद्दू में फॉलिक एसिड भरपूर मात्रा में होता है, जो शरीर में नाईट्रिक एसिड की मात्रा को घटाता है। यह आपके शरीर की प्रक्रिया को सुचारू बनाता है। यह कद्दू का विशेष लाभ है।

*प्रोस्टेट बढ़ने से मूत्र रुकावट की अचूक  औषधि*

ब्लड प्रेशर में लाभ

अगर आप अपना ब्लड प्रेशर कंट्रोल में लाइन के लिए एंटी-हाइपरटेंसिव दवाएं ले रहे हैं और फिर भी कुछ फायदा नहीं हो रहा तो आपको कद्दू के बीजों के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। एक अध्ययन के अनुसार, कद्दू के बीज में से तत्व होते हैं जो आपका ब्लड प्रेशर कम करते हैं, और दिल के लिए अच्छे होते हैं। कद्दू के बीज नाइट्रिक ऑक्साइड का उत्पादन करते हैं जो दिल की धड़कन को नियमित करता है, जिससे दिल की बीमारियों का जोखिम कम होता है।

डायिबिटीज़ में लाभ

अगर आप अपनी डायबिटीज़ को नैचुरली कंट्रोल में रखना चाहते हैं तो डायट में कद्दू के बीज खाना शुरू करें। एक अध्ययन में, ये बात सामने आई है कि कद्दू के बीज और अलसी के बीज का मिक्सचर डायबिटीज़ के दौरान शरीर में पैदा होने वाले कुछ एंजाइम स्तरों को कंट्रोल करता है, जिससे डायबिटीज़ कंट्रोल में आ जाती है।

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचा