प्याज और सेंधा नमक लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
प्याज और सेंधा नमक लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

31.8.17

दिल की गति तेज होने पर घरेलू आयुर्वेदिक उपचार //Home remedies for faster heart speed


तेजी से दिल धड़कने के घरेलु नुस्खे इस प्रकार हैं: -

प्याज और सेंधा नमक-

दो चम्मच प्याज के रस में सेंधा नमक मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें|

गाय का दूध, किशमिश और बादाम-

गाय के दूध में किशमिश तथा बादाम डालकर औटाएं| फिर शक्कर डालकर सहता-सहता घूंट-घूंट पी लें|

गुलाब, धनिया और दूध-


गुलाब की पंखुड़ियों को सुखाकर पीस लें| फिर इसमें धनिया का चूर्ण समभाग में मिलाएं| एक चम्मच चूर्ण खाकर ऊपर से आधा लीटर दूध पिएं|

अनार-

अनार के कोमल कलियों की चटनी बनाकर एक चम्मच की मात्रा में सुबह के समय निहार मुंह खाएं| लगभग एक सप्ताह सेवन करने से दिल की धड़कन सही रास्ते पर आ जाती है|

सेब, पानी और मिश्री-

200 ग्राम सेब को छिलके सहित छोटे-छोटे टुकड़े करके आधा लीटर पानी में डाल दें| फिर इस पानी को आंच पर रखें| जब पानी जलकर एक कप रह जाए तो मिश्री डालकर सेवन करें| यह दिल को मजबूत करता है

बेल और मक्खन-

बेल का गूदा लेकर उसे भून लें| फिर उसमें थोड़ा-सा मक्खन या मलाई मिलाकर सहता-सहता लार सहित गले के नीचे उतारें|

अंगूर-

भोजन के बाद चार चम्मच अंगूर का रस पिएं|

पिस्ता-

पिस्ते की लौज खाने से हृदय की धड़कन ठीक हो जाती है|

आंवला और मिश्री-

आंवले के चूर्ण में मिश्री मिलाकर एक चम्मच की मात्रा में भोजन के बाद खाएं| यह दिल की धड़कन सामान्य करता है| इससे रक्तचाप में भी लाभ होता है क्योंकि दिल की धड़कन तेज होने पर रक्तचाप भी बढ़/घट जाता है|

सेब, कालीमिर्च और सेंधा नमक-

आधे कप सेब के रस में चार कालीमिर्च का चूर्ण तथा एक चुटकी सेंधा नमक मिलाकर सेवन करें|

गाजर-

आधा कप गाजर का रस गरम करके प्रतिदिन दोपहर के समय पिएं|

टमाटर और पीपल-

टमाटर के रस में पीपल के पेड़ के तने की छाल का 4 ग्राम चूर्ण मिलाकर सेवन करें| टमाटर के रस की मात्रा आधा कप होनी चाहिए|दिल धड़कने पर जरा-सा कपूर जीभ पर रखकर चूसें|

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि