किशमिश के स्वास्थ्य लाभ लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
किशमिश के स्वास्थ्य लाभ लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

31.3.20

किशमिश के स्वास्थ्य लाभ


                                 

किशमिश बहुत छोटी होती है लेकिन इसमें कई सारे गुण मौजूद होते हैं। आपको बता दें कि किशमिश में आयरन, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फाइबर की बहुत ज्यादा मात्रा होती है। इसके साथ ही किशमिश में प्रचुर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट भी मौजूद होता है और यह हमारे शरीर के लिए एनर्जी का सबसे अच्छा सोर्स भी है। इसे हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद माना गया है। वहीं अगर आयुर्वेद की मानें तो उसके मुताबिक अगर आप रोजाना सूखी किशमिश खाने की जगह भीगी हुई किशमिश खाएंगे तो इससे आपको फायदा और भी ज्यादा मिलेगा।
इस मीठे सेहत के खजाने में सिर्फ अंगूर ही नहीं बल्कि दूध के भी लगभग सभी तत्व पाये जाते हैं। चिकित्सको का कहना है कि किशमिश को दूध के अभाव में प्रयोग में लाया जा सकता है, क्योंकि किशमिश दूध की तुलना में जल्दी पच जाती है। वृद्धावस्था के दौरान इसका सेवन करने से न केवल बीमारियों से शरीर की रक्षा होती है अपितु यह उम्र वृद्धि में भी सहायक है।
आयुर्वेद के अनुसार, किशमिश में मौजूद शर्करा शरीर में आसानी से पच जाती है| नतीजनत् शरीर को शक्ति और स्फूर्ति प्राप्त होती है। जब कभी भी बहुत ज्यादा परिश्रम, या किसी बड़ी बीमारी के पश्चात् जब हमारे शरीर की शक्ति क्षीण हो जाती है, तब खोई हुई ऊर्जा को वापिस हासिल करने के लिए किशमिश शरीर हेतु संजीवनी की तरह काम करती है|आप रात को सोते समय 10 से 15 किशमिश को पानी में भिगोकर रख दें और सुबह खाली पेट किशमिश को चबाकर खा जाएं।आपको बता दें कि अंगूर को सुखाकर किशमिश बनाई जाती है इस वजह से इसमें कई पोषक तत्व और भी ज्यादा कंसनट्रेटेड रहते हैं। किशमिश में शुगर और कैलोरी बहुत ज्यादा होती है। लेकिन यह आपको नुकसान नहीं पहुंचाती बल्कि फायदा पहुंचाती है।किशमिश की इस बात को जानने के बाद आप हैरान रह जाएंगे कि किशमिश खाने से आप अपने मोटापे को भी कम कर सकते हैं। अगर आप रोजाना एक्सरसाइज करें और साथ में किशमिश भी खाएं तो आपका वजन काफी तेजी के साथ कम होगा।


पाचन में मददगार
किशमिश में फाइबर बहुत ज्यादा मात्रा में मौजूद होता है। जो कि पाचन में मददगार साबित होता है। आप रात को 1-12 किशमिश एक गिलास पानी में भिगोकर रख दें और सुबह खाली पेट उस पानी को किशमिश के साथ ही पी जाएं।
*किशमिश के नियमित सेवन से खून बनता है, वायु दोष दूर होता है, पित्त दूर होता है, कफ दूर होता, और यह हृदय के लिये बड़ी हितकारी तथा हार्ट अटैक को दूर रखने में मदद करती है|
बुखार ठीक करे-

आपने अक्सर देखा होगा की जब किसी को बुखार होता है तो उसे किशमिश खाने की सलाह दी जाती है| दरअसल किशमिश में मौजूद फिनॉलिक पायथोन्‍यूट्रियंट जो कि जर्मीसाइडल, एंटी बॉयटिक और एंटी ऑक्‍सीडेंट तत्‍वों की वजह से जाने जाते हैं, वो वाइरल तथा बैक्‍टीरियल इंफेक्‍शन से लड़ कर बुखार को जल्‍द ठीक कर देते हैं।
सांसो से आने वाली बदबू को दूर करने में मददगार
आपको बता दें कि किशमिश में एंटी-बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। जिससे बैक्टीरिया से लड़ने में काफी मदद मिलती है और आपके मुंह से आने वाली बदबू भी गायब हो जाती हैं।
शादीशुदा मर्दों को सुबह जरूर पीना चाहिए किशमिश का पानी
सफल और सुखमय वैवाहिक जीवन का राज छिपा है किशमिश में। आसानी से उपलब्‍ध मेवे में ऐसे चमत्‍कारी गुण हैं कि महिलाओं के साथ पुरुषों के लिए भी इसक सेवन जरूरी है। खासतौर पर किशम‍िश का पानी तो गुणों की खान बताया जाता है।
किशम‍िश के पानी को अगर हफ्ते में 3 दिन भी पिया जाए तो कई समस्‍याएं दूर हो सकती हैं। इस पानी को नाश्‍ते से पहले पीना चाहिए।
कैंसररोधी
कैंसर कोशिकाओं के विकास के लिए फ्री रेडिकल्‍स सबसे प्रमुख कारणों में से एक है| इसके अलावा यह मेटास्टेसिस को भी प्रोत्साहित करते हैं। किशमिश में उच्‍च स्‍तर में काट्चिंस तत्‍व होता है यह तत्‍व रक्त में पॉलीफेनोलिक एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। एंटीऑक्‍सीडेंट शरीर के आस-पास रहने वाले फ्री रेडिकल्‍स को शरीर से बाहर निकालता है।


वजन बढ़ाने में उपयोगी-
जो लोग अपना वजन बढ़ाने के बारे में सोच रहे है| उन्हें बतादे की किशमिश उनके लिए बेहद फायदेमंद है| किशमिश में भरपूर मात्रा में फ्रुक्टोज और ग्लूकोज पाया जाता हैं। जो एनर्जी देने के साथ साथ वजन बढ़ाने में भी मदद करता है। अगर आप सही प्रकार से वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो बिना इन्तेजार किये आज से ही किशमिश खाना शुरु कर दें।
एनीमिया
आयरन किशमिश में प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है। अगर आप रोजाना पानी में भीगी हुई किशमिश खाते हैं तो इससे आपके शरीर में खून बढ़ता है और साथ ही आप एनीमिया से भी अपने आप को बचाए रखते हैं।
शराब से छुटकाराकिशमिश की मदद से आप शराब के नशे से छुटकारा पा सकते है| जब भी आपकी शराब पीने की इच्छा हो तब शराब की जगह 10 से 12 ग्राम किशमिश को चबा-चबाकर खाए या किशमिश का शरबत पियें। जहा एक तरफ शराब पीने से ज्ञानतंतु सुस्त हो जाते हैं वही किशमिश के सेवन से शीघ्र ही पोषण मिलता है जिसके चलते मनुष्य उत्साह, शक्ति और प्रसन्नता का अनुभव करने लगता है। यह प्रयोग लगातार करते रहने से कुछ ही दिनों में शराब छूट जायेगी।
हड्डियों के लिए है फायदेमंद
आपकी जानकारी के लिए बता दे कि किशमिश में बहुत ज्यादा मात्रा में कैल्शियम और माइक्रो न्यूट्रिएंट्स मौजूद होते हैं। इन्हीं की वजह से आपके शरीर की हड्डियां स्वस्थ और मजबूत बनी रहती हैं।
आँखों के लिए फायदेमंदकिशमिश में विटामिन ए, ए-कैरोटीनॉइड और ए-बीटा कैरोटीन मौजूद होता है, जो कि आँखों को फ्री रैडिकल्‍स से लड़ने में मदद करता है। इसमें एंटी ऑक्‍सीडेंट गुण भी पाये जाते है| किशमिश खाने से मोतियाबिंद, उम्र बढने की वजह से आँखों में आने वाली कमजोरी, मसल्‍स डैमेज आदि नहीं होता।
बढ़ेगी रोगों से लड़ने की क्षमता
रात में भीगी हुई किशमिश खाने और इसका पानी पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स के कारण इम्यूनिटी बेहतर होती है जिससे बाहरी वायरस और बैक्टीरिया से हमारा शरीर लड़ने में सक्षम होता है और ये बैक्टीरिया शरीर में प्रवेश नहीं कर पाते हैं।
बीपी भी रहता सामान्य
रात की भिगाई हुई किशमिश वैसे तो सभी के लिए फायदेमंद है मगर इसका लाभ उन लोगों को मिल सकता है, जो हाई ब्लड प्रेशर यानी हाइपरटेंशन से परेशान हैं। किशमिश शरीर के ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करती है। इसमें मौजूद पोटैशियम तत्व आपको हाइपरटेंशन से बचाता है।


कोलेस्ट्रोल घटाए-बहुत कम लोग यह बात जानते है कि किशमिश पूरी तरह से कोलेस्‍ट्रॉल मुक्त होता है। किशमिश में घुलनशील फाइबर बहुत अधिक मात्रा में होता है। यह घुलनशील फाइबर बुरे कोलेस्‍ट्रॉल का विरोध करता है| इसके अलावा किशमिश पोलीफेनोल्स एंजाइम को भी दबाता है जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल को अवशोषित के लिए जिम्मेदार होता है।
लीवर
किशमिश एक उत्तम ड्रायफ्रूट भी है। यह हमारे शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को निकालने में मददगार होता है। साथ ही हमारे लिवर को प्रभावित होने से भी बचाए रखता है।
*इसमें बोरान नामक तत्व पाया जाता है जो दिमाग को तेज़ बनाने का काम करता है. किशमिश विटामिन ए, ए-बीटा कैरोटीन और ए-कैरोटिनाइड से भरपूर होता है, जो आई साइट तेज़ करने में मदद करता है. इसमें मौजूद पोटैशियम और मैग्नीशियम दोनों मिलकर पेट को हेल्थी बनाए रखते हैं. इसके अलावा इसमें विटामिन बी कॉम्लेक्स और कॉपर भी भरपूर होता है जिस वजह से यह एनिमिया में आराम दिलाती है और रेड ब्लड सेल्स बनाती है.
कैसे तैयार करें किशम‍िश का पानी
अच्छी क्‍वॉलिटी के 20 दाने किशमिश लें धोने के बाद पीने के एक गिलास पानी में रात भर के लिए भ‍िगोकर रख दें। सुबह किशमिश को पानी से निकाल लें और नाश्‍ते से पहले कर अच्छी तरह चबाते हुए खा लें।
वैसे भीगी हुई किशमिश को उसी पानी में चम्मच से अच्छी तरह मैश करें और फिर पी लें।
अगर ना भिगो पाएं किशमिश
अगर आप किशमिश भ‍िगोना भूल जाते हैं तो सुबह इसके 20 दानों को धोकर खाली पेट खाएं. इसके बाद एक गिलास गुनगुना पानी भी पी सकते हैं।

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचा