चूना (Lime) के औषधीय गुण लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
चूना (Lime) के औषधीय गुण लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

5.12.16

चूना (Lime) के औषधीय गुण // Medicinal use of lime



चूना पत्थर अनेक किस्मों में उपलब्ध है। यह रंग, विन्यास, कठोरता और टिकाऊपन में विभिन्न गुणों का होता है। सघन कणवाले गहन ओर मणिभीय पत्थर गृहनिर्माण के लिये उत्कृष्ट होते हैं। ये कार्यसाधक, दृढ़ और टिकाऊ होते हैं। चूना पत्थर पर तनु अम्ल की क्रिया बड़ी सरलता से होती है, अत: औद्योगिक नगरों के निकट गृहनिर्माण के लिये यह पत्थर ठीक नहीं होता। बनावट और अन्य गुणों की विभिन्नता के कारण चूना पत्थर की दृढ़ता विभिन्न होती है। इसलिये गृहनिर्माण के पूर्व पत्थर की परीक्षा कर लेनी चाहिए।

नसों में होने वाले दर्द से निजात पाने के तरीके 

बहुत बड़ी मात्रा में चूना पत्थर का चूने के निर्माण में उपयोग होता है। १०० किलोग्राम चूने के पत्थर से लगभग ६५ किलोग्राम चूना प्राप्त होता है। शुद्ध चूना पत्थर याखड़िया से, जिसमें छ: प्रतिशत से अधिक सिलिका(Silica) , ऐल्यूमिना(Aelumina) तथा अन्य अपद्रव्य न हों, उत्कृष्ट चूना प्राप्त होता है। चार से सात प्रतिशत संयुक्त सिलिका ऐल्यूमिना वाले मिट्टीयुक्त चूना पत्थर से मध्यम श्रेणी का जलचूना और ११-२५ प्रतिशत संयुक्त सिलिकावाले चूनापत्थर से सर्वोत्कृष्ट श्रेणी का जलचूना प्राप्त होता है।
खाने का चूना बहुत ही गुणकारी और लाभकारी होता है लेकिन इस बारे में सब नहीं जानते हैं. खाने का चूना हमें बिमारियों से दूर रखता है और हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है| अब जानते हैं कि किस तरह चूना हमारे लिए लाभकारी होता है|

पेट मे गेस बनने के घरेलू,आयुर्वेदिक उपचार 

स्मरण शक्ति मजबूत करने के लिए  : 

चूने का प्रयोग करने से स्मरण शक्ति भी बढ़ती है लेकिन चूने का प्रयोग ज्यादा नहीं किया जाना चाहिये, इसलिए केवल चावल के दाने के बराबर चूना ही प्रयोग में लायें| इससे कम बुद्धि वाले व्यक्तियों की याद करने की क्षमता तेज़ होती है. जिन बच्चों का दिमाग देर से काम करता है उनका दिमाग तेज़ी से कम करने लगता है और जिनको धीमा याद होता है उनको जल्दी याद होने लगता है| चूना पढने वाले विद्यार्थियों के लिए बहुत ही गुणकारी और लाभकारी होता है इसको सोने से पहले लें इसका प्रयोग दिमाग को तंदरूस्त और मानसिक बिमारियों से भी दूर रखता है. इसके अलावा IQ लेवल बढ़ाने में भी चूना बहुत लाभकारी होता है|

लम्बाई बढ़ाने में 

जिन इंसानों की लम्बाई नहीं बढती है या फिर कम होती है उनको नाम मात्र चूना दही में मिलाकर खायें. ऐसा करने से लम्बाई बढ़ जाती है. इसके अलावा आप एक चावल के जितना चूना दाल में मिलाकर खायें लम्बाई बढ़ जाती है. आजकल के व्यक्ति अपनी लम्बाई से बहुत परेशान है कि उनकी लम्बाई नहीं बढ़ रही है और तरह तरह के नुस्खे और दवाइयां अपना रहें हैं लकिन आराम नहीं हो रहा है तो वे एक बार जरूर चूने का प्रयोग करें|

बहनों को अपने मासिक धर्म

के समय अगर कुछ भी तकलीफ होती हो तो उसका सबसे अच्छी दवा है चूना।
हमारे घर में जो माताएं है जिनकी उम्र पचास वर्ष हो गयी और उनका मासिक धर्म ((Menstrual)) बंद हुआ उनकी सबसे अच्छी दवा है चूना — गेहूँ के दाने के बराबर चूना हर दिन खाना दाल में, लस्सी में, नही तो पानी में घोल के पीना।
जब कोई माँ गर्भावस्था में है तो चूना रोज खाना चाहिए क्योंकि गर्भवती (Pregnant) माँ को सबसे ज्यादा केल्शियम (Calcium) की जरुरत होती है और चूना केल्शियम का सबसे बड़ा भंडार है। गर्भवती माँ को चूना खिलाना चाहिए


अनार के रस में –

अनार का रस एक कप और चूना गेहूँ के दाने के बराबर ये मिलाके रोज पिलाइए नौ महीने तक लगातार दीजिये तो चार फायदे होंगे – पहला फायदा होगा के माँ को बच्चे के जनम के समय कोई तकलीफ नही होगी और नॉर्मल डीलिवरी होगा, दूसरा बच्चा जो पैदा होगा वो बहुत हृष्ट पुष्ट और तंदुरुस्त होगा, तीसरा फ़ायदा वो बच्चा जिन्दगी में जल्दी बीमार नही पड़ता जिसकी माँ ने चूना खाया और चौथा सबसे बड़ा लाभ है वो बच्चा बहुत होशियार होता है बहुत Intelligent और Brilliant होता है उसका IQ बहुत अच्छा होता है।


बिदारीकन्द के औषधीय उपयोग 


पीलिया

जो व्यक्ति पीलिया से ग्रसित हो जाते हैं उनको चावल के दाने के बराबर चूना पानी या जूस के साथ दें ऐसा करने से पीलिया में लाभ मिलता है.

शुक्राणु बढ़ाने में - 

अगर किसी लड़के के शुक्राणु नहीं बनते है या फिर बढ़ते नहीं हैं तो चूना शुक्राणु बनाने और बढ़ाने में लाभकारी होता है. जिन लड़कियों में अंडे नहीं बनते हैं उनको गन्ने के जूस के साथ चूना मिलाकर खिलाने से अंडे बनने लगते हैं. चूना नपुसंकता के रोग को दूर करने में भी गुणकारी साबित होता है|

मासिक धर्म की समस्या

जिन लड़कियों में मासिक धर्म की समस्या होती है या फिर माहवारी चक्र में बदलाव या फिर माहवारी चक्र का रुक जाना इस तरह की परेशानियाँ होती हैं उनके लिए चूना बहुत ही गुणकारी होता है|

दर्द में आराम :

जिन व्यक्तियों को किसी भी कारण से वात की समस्या होने लगती है जिस कारण से कमर में, घुटनों में, हाथों में और कन्धों में दर्द होना शुरू हो जाता है उनको चूना पानी में मिलाकर पिलायें ऐसा करने से दर्द में आराम मिलता है|

शरीर में जब खून 

कम हो जाये तो Lime जरुर लेना चाहिए, एनीमिया है खून की कमी है उसकी सबसे अच्छी दवा है ये Lime, Limeपीते रहो गन्ने के रस में, या संतरे के रस में नही तो सबसे अच्छा है अनार के रस में – अनार के रस में Lime पिए खून बहुत बढता है, बहुत जल्दी खून बनता है – एक कप अनार का रस गेहूँ के दाने के बराबर Lime सुबह खाली पेट।
अगर आपके घुटने में घिसाव (Wear Knee)आ गया और डॉक्टर कहे के घुटना बदल दो तो भी जरुरत नहीं चूना खाते रहिये और हरसिंगार के पत्ते का काढ़ा (Decoction of leaves harsingaar) खाइए घुटने बहुत अच्छे काम करेंगे।

चूना घुटने का दर्द 

ठीक करता है, कमर का दर्द (ठीक lumbar puncture) करता है, कंधे का दर्द (Shoulder Pain) ठीक करता है, एक खतरनाक बीमारी है “Spondylitis” वो चुने से ठीक होता है।
कई बार
हमारे रीढ़ की हड्डी (Spinal Cord) में जो मनके(Beaded) होते है उसमें दूरी बढ़ जाती है Gap आ जाता है – ये चूना ही ठीक करता है उसको; रीड़ की हड्डी की सब बीमारिया चूने से ठीक होता है।
अगर आपकी
हड्डी टूट जाये तो टूटी हुई हड्डी को जोड़ने की ताकत सबसे ज्यादा चूने में है। चूना खाइए सुबह को खाली पेट।
अगर मुंह में ठंडा गरम पानी लगता है तो चूना खाओ बिलकुल ठीक हो जाता है।
मुंह में अगर छाले हो गए है तो चूने का पानी पियो तुरन्त ठीक हो जाता है।

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार