तुलसी के बीज के फायदे लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
तुलसी के बीज के फायदे लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

4.6.19

तुलसी के बीज के फायदे


                                                                       

तुलसी एक औषधीय पौधा है, जिसका हर हिस्सा कई दवाओं को बनाने के काम आता है। अधिकतर लोग इसके पत्तों के फायदों के बारे में ही जानते हैं, मगर आपको बता दें कि तुलसी के बीज भी कई शारीरिक समस्याओं का निदान कर सकते हैं। इन्हें अधिकतर मिठाई या पेय पदार्थों में इस्तेमाल किया जाता है।
तुलसी एक ऐसी औषधि है जो हमारे शरीर और वातावरण दोनों के लिए फायदेमंद होती है। तुलसी के बीज हमारे खाने के स्वाद को बढ़ाते हैं। यह ऐसा घटक है जो सदियों से लोगों के द्वारा प्रयोग किया जाता रहा है।तुलसी के बीज को ‘सुपर फूड’ के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह आपके शरीर को आवश्यक फाइबर को पूरा करने में मदद करता है। इसके अलावा, यह आपका वजन कम करने, त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने, पाचन में सुधार, बालों को मजबूत करने और रक्त परिसंचरण को सही रखने में भी मदद करता है|
आयुर्वेद और चाइनीज औषधीय विज्ञान में तुलसी के बीजों को बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है। इनमें काफी मात्रा में पोषण, प्रोटीन, फाइबर और आयरन होता है। इन्हें सब्जा भी कहा जाता है, जो कि आपको कई स्वास्थ्य लाभ पहुंचाते हैं। 
प्राचीन काल में सब्जा (मीठी तुलसी के बीज ) को भी स्वास्थ्य लाभ के लिए जाना जाता है। सब्जा का प्रमुख लाभ यह है कि यह शरीर को ठंडा रखने के साथ- साथ कब्ज और हर्टबर्न जैसी बीमारियों के इलाज में मदद करता है। इस प्रकार यह गर्मियों के लिए एक विशेष प्रकार का घटक होता है। यह कब्ज और सूजन से राहत देता है। इसके अलावा इसको नारियल के तेल में मिलाकर त्वचा पर लगाने से त्वचा के संक्रमण की बीमारी ठीक हो जाती है।
सब्जा के बीजों को आम भाषा में ‘फालूदा बीज’ या ‘तुक्मरिया बीजों’ के नाम से जाना जाता है। यह देखने में तो बहुत छोटे होते हैं लेकिन शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। 
फाइबर से भरपूर
सब्जा के बीज को एक चम्मच से थोड़ा कम यानि 4 ग्राम लेने से कभी भी शरीर में फाइबर की कमी नहीं होती है।
कब्ज को दूर हटाता है और शरीर को ठंडा रखता है
यह पेट में कब्ज की समस्या को खत्म करने के साथ ही शरीर को ठंडा रखता है। इसके अलावा यह मधुमेह के टाइप ए और टाइप बी को सही करने में एक बड़ी भूमिका निभाता है। क्योंकि खाना खाने के कुछ मिनट पहले यह शरीर में फाइबर की मात्रा वद्धि कर देता है जिससे खून में शर्करा के स्तर में कमी नहीं होने देता है।
सूजन में कमी
तुलसी के बीज में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो कि शरीर के किसी हिस्से में आई सूजन और एडिमा जैसी बीमारियों का उपचार कर सकते हैं। साथ ही इसका इस्तेमाल डायरिया में भी आपको राहत दिलाता है
एस्ट्रोजन का स्तर कम करने में
यह शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर को कम करने में सक्षम हैं और इसलिए यह एस्ट्रोजन प्रमुख कैंसर के मामले में अच्छी तरह से काम करता है।
हृदय को स्वस्थ बनाना
तुलसी के बीज शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को संतुलित करते हैं, जिससे यह हृदयघात के प्रमुख कारण उच्च रक्तचाप और स्ट्रेस को कम करते हैं। ये बीज शरीर में लिपिड स्तर को बढ़ाते हैं और हृदय को सुरक्षा प्रदान करते हैं।
खांसी-जुकाम में राहत
इन बीजों में एंटी-स्पैसमोडिक गुण होते हैं, जो खांसी-जुकाम जैसी बीमारियों में राहत पहुंचाते हैं। साथ ही इसकी मदद से बुखार का इलाज भी किया जा सकता है।
वजन कम करना
तुलसी के बीज में कैलोरी की मात्रा कम होती है और यह आपकी भूख भी मिटाता है। इसलिए इन्हें वजन कम करने में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह आपके पेट को ज्यादा देर तक भरा रखते हैं और आपकी अस्वस्थ खानपान करने की संभावनाओं को कम करते हैं।
त्वचा संबधी समस्याओं को दूर करना
यह बीज हमारी त्वचा को ठीक करने में बेहद प्रभावी होते हैं। इस बीज को आप नारियल तेल में भिगो लें और फिर अपनी त्वचा पर धीरे-धीरे मसाज करें। ऐसा करने से आपकी त्वचा के हानिकारक तत्व बाहर निकलेगें और स्किन में निखार आयेगा।
पाचन क्षमता बढ़ाना
ये बीज पेट में जाने के बाद जिलेटनयुक्त परत बनाते हैं, जो कि पाचन क्षमता को मजबूत बनाने में मदद करती है। साथ ही इसमें मौजूद फाइबर तत्व पाचन को बढ़ाता है।