दालचीनी के अद्भुत फायदे लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
दालचीनी के अद्भुत फायदे लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

5.7.17

दालचीनी के अद्भुत फायदे //The wonderful benefits of cinnamon




दालचीनी का परिचय :-


दालचीनी को हम सब गर्म मसाले के रूप में जानते हैं.दालचीनी पेड़ के अंदर की छाल होती हैं.दालचीनी का प्रयोग खाना और मिठाई में किया जाता हैं. दालचीनी आसानी से उपलब्ध एवं औषधीय गुणों से भरपूर एक मसाला है जो सामान्यतः सभी रसोइयों में उपलब्ध होता है.
दालचीनी को हम एक तरीके से औषधी का भी रूप दे सकते हैं | क्यूंकि एकेली दालचीनी से न जाने हमारे कितने रोग ठीक होते हैं | दालचीनी को ज्यादातर हम अपने घरों में मसाले के रूप मैं प्रयोग करते है | ये दालचीनी पंसारी की दुकान पर आसानी से मिल जाती है | दालचीनी ज्यादातर हमारे वायु के रोगों जेसे कब्जियत,उच्च रक्त चाप, कफ के रोग इत्यादि मैं बहुत काम आती है |

दालचीनी के फायदे :-

दालचीनी के आयुर्वेद मैं बहुत फायदे है | अगर हमारे कोई बीमारी है और उसका इलाज दालचीनी से सम्भव है तो दालचीनी से ही उसका उपचार करें न की एलोपेथी से |

गैस ,बद्हज़मी से छुटकारा दिलाता हैं : 


 गैस की समस्या हो तो दालचीनी का उपयोग फायदेमंद हैं.इसके लिए १ चम्मच दालचीनी के पाउडर में १ चम्मच शहद मिला कर गर्म पानी के साथ इसका सेवन लाभप्रद होता हैं . इससे पेट की समस्यायों में निजात मिलता हैं.

दम्मा ,अश्थमा, वात के रोग के लिए : 


जिनको दम्मा  (Asthama) हो तो उनको दालचीनी का उपयोग करना चाहिए.दालचीनी के पाउडर को गुड के साथ अच्छे से मर्दन कर के गर्म पानी के साथ लेना चाहिए,आराम मिलता हैं.

सर्दी और खांसी मैं फायदेमंद :-

जिन  व्यक्तियों को सर्दी खांसी हो जाती है | उनके लिए सबसे अच्छा इलाज है दालचीनी | करना क्या है कि आपको दालचीनी पाउडर के साथ थोडा सा गुड मिलाकर सुबह-सुबह खाली पेट सेवन  कर लो | फिर इसके आधे घंटे बाद आधा कप गौ मूत्र पी लें अगर आपको मधुमेह या शूगर है तो आप दालचीनी का सेवन सुबह-सुबह गर्म पानी से करें |
लेने का समय :– 2-3 महीने सुबह-सुबह खाली पेट |

कैंसर के लिए उपयोगी : 


दालचीनी का तेल कैंसर में होने वाले प्रभाव को कम करता हैं दालचीनी ट्यूमर ,गैस्ट्रिक कैंसर की रोकथाम के लिए दालचीनी का उपयोग किया जाता हैं.दालचीनी के पाउडर में शहद को मिला कर खाते रहने से भी कैंसर में होने वाले प्रभाव को कम किया जा सकता हैं.

कैलेस्ट्रोल को नियंत्रित करता हैं :

 जिनको  कोलेस्ट्रोल की अनियमिता हैं उनको दिल के दौरे पड़ने की संभावना ज्यादा हो जाती हैं.शरीर में रक्त वाहिनिया ,धमनियों में रुकावट आ जाती हैं जिससे दिल तक खून सही से नहीं पहुँच पाता और ह्रदय घात का ख़तरा बना रहता हैं. जब हम एंटी ऑक्सीडेंट की मात्रा बहुत कम लेते हैं तो कोलेस्ट्रोल बढ़ जाता हैं.दालचीनी कैलेस्ट्रोल के लेवल को नियंत्रित करता हैं.एक उपाय भी हैं. २ चम्मच शहद ,३ चम्मच दालचीनी पाउडर १/२ लीटर गर्म पानी के साथ ले .इससे  कोलेस्ट्रोल का ख़तरा कम हो जाता हैं.

घाव व् सूजन के लिए :-


 जिन व्यक्तियों के शरीर पर किसी भी कारण सूजन व् घाव हो जाता है | उनके लिए सबसे अच्छी दवा है दालचीनी का तेल | ये तेल आपको किसी भी दुकान पर मिल जाएगा पंसारी पर भी मिल जाएगा | फिर इस तेल को घाव या सुजन पर धीरे से लगायें | घाव व् सूजन एक दम सही हो जाएँगे |

उल्टी,दस्त होने पे : 

दालचीनी का उपयोग उल्टी ,दस्त में भी किया जाता हैं.इसके लिए १ गिलास पानी में दालचीनी पाउडर को उबालें फिर उसमे शहद मिलाएं और इसको पी ले, फायदा होता हैं

गोरा होने के लिए :-

 कुछ व्यक्तियों का रंग सांवला होता है वो दालचीनी का प्रयोग करें | करना कैसे है कि आपको थोड़े से दालचीनी पाउडर मैं थोडा सा दूध मिलाएं | फिर इसे अपने चेहरे पर लगायें अहिस्ता-अहिस्ता | फिर 8-10 मिनट बाद ठंडे पानी से अपना चेहरा धो लें | जल्द ही दिनों मैं चेहरा निखरने के साथ-साथ दाग-धब्बे भी खत्म हो जाते हैं |
पेस्ट लगाने का समय :- शाम को लगायें |

*वीर्य की मात्रा बढ़ाने और गाढ़ा करने के उपाय 

मुहं की बदबू के लिए :

जिन भी व्यक्तियों के मुहं में से बदबू आती है वो लोग प्रति दिन  थोड़ी सी इसकी लकड़ी को चुसे | इससे एक दम मुहं मैं से बदबू गायब हो जाती है |

कान के दर्द के लिए : 

 अगर कान में तेज दर्द हो रहा हो या फिर कम सुनाइ पड़ता हो तो दालचीनी के तेल की कुछ बुँदे कान में लेने से बहुत फायदा होता हैं.दालचीनी सुनने की शक्ति को बढाती हैं.

बालों के झड़ने और गंजेपन के रामबाण उपचार 

मानसिक शक्ति के लिए :- 

जिन लोगो को  मानसिक तनाव ज्यादा रहता है वो लोग रात को सोते समय नियमित रूप से एक चुटकी दालचीनी पाउडर शहद के साथ मिलाकर लेने से मानसिक तनाव में राहत मिलती है और स्मरण शक्ति बढ़ती है।

लेने का समय :- रात को सोने से पहले |

मोटापा से मुक्ति पाने के लिए :-

कुछ व्यक्ति अपने बजन के कारण बहुत निरास रहते हैं तो वो लोग पर्तिदिन एक कफ गर्म पानी मैं सहद और दालचीनी पाउडर मिलाएं फिर उसको सुबह-सुबह खाली पेट पियें | एसा करने से मोटे से मोटा व्यक्ति भी दुबला-पतला हो जाता है |

*बढ़ी हुई तिल्ली प्लीहा के घरेलू आयुर्वेदिक उपचार


सर दर्द के लिए :-

कुछ व्यक्ति इसे होते हैं जिनको ज्यादा ठंडी हवा लगने से उनके सर मैं दर्द होने लगता है ऐसे मैं उन लोगो को डाल चीनी का प्रयोग करना चाहिए करना कैसे है की आपको दालचीनी पाउडर मैं थोडा सा पानी मिलाकर पेस्ट बना लें फिर इसे धीरे-धीरे माथे पर लगायें | सर दर्द एक दम ठीक हो जाता है |

दांतों मैं दर्द होने पर :- 

कुछ कारण वस दांतों मैं दर्द होने पर एक चम्मच दालचीनी पाउडर और 4-5 चम्मच शहद मिलाकर इसका पेस्ट बना लें और फिर इसको दांत के दर्द वाली जगह पर लगाएं | एसा करने से दर्द मैं एक साथ राहत मिलती है | 

अल्झाइमर एवं पार्किन्सन की बीमारी में : 

अल्झाइमर एवं पार्किन्सन की बीमारी में दालचीनी का उपयोग किया जाता हैं.दालचीनी के पाउडर का पेस्ट बना कर लगाने से फयदा होता हैं.

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचा