विषहरण करना (Detox) लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
विषहरण करना (Detox) लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

27.11.17

शरीर के विषैले तत्वों से छुटकारा पाने के आसान तरीके



    विषहरण करना (Detox), या विषहरण आहार-संयम शरीर को विषाक्त पदार्थों से मुक्त करने की पद्धति है। 
    क्या आप हमेशा सुस्ती का अनुभव करते हैं? क्या अचानक से आपके चेहरे पर मुहांसे और त्वचा पर फुंसी निकल आती हैं? क्या आप अपने पाचन तंत्र में गड़बड़ी महसूस कर रहे हैं? अगर हां, तो आपके शरीर को डीटाक्स करने की जरूरत है। एक स्वस्थ्य जिंदगी का सबसे बड़ा राज यह है कि अपने शरीर से विषैले तत्वों को निकाला जाए। इसलिए अब तक आप अपने शरीर के साथ जो बुरा करते आए हैं, उन्हें सुधार लें। आइए हम आपको बताते हैं कुछ आसान तरीके, जिन्हें अपना कर आप अपने शरीर में मौजूद विषैले तत्वों से छुटकारा पा सकते हैं।
   *एंटी-ऑक्सीडेंट की आदत डालें डीटाक्सीफाइ का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप ज्यादा से ज्यादा फल और हरी सब्जियां खाएं। इससे लीवर एंजाइम सक्रिय होंगे और शरीर में मौजूद नुकसानदायक पदार्थो को बाहर निकालने में मदद करेंगे।
विषहरण-फलाहार करें: 

अपने को भूखा रखे बिना उपवास करने का एक शानदार तरीका विषहरण-फलाहार है। इसके जहां कई अन्य स्वास्थ्य वर्द्धक फायदे हैं, वहीं पर्याप्त मात्रा में फल खाने से आपकी ऊर्जा के स्तर में बढ़ोतरी हो सकती है, वजन संतुलित करने में मदद मिल सकती है, यहां तक कि आघात (stroke) की संभावना को भी कम किया जा सकता हैं। कई प्रकार के फलों के समन्वय या सिर्फ एक ही किस्म का फल खाकर आप विषहरण कर सकते हैं। सर्वोत्तम परिणाम के लिए, वह फल चुनिए जिसे खाने में आपको मज़ा आता है, इससे आप अपने को पीड़ित महसूस नहीं करेंगे। केवल फलाहार पर एक बार में लगातार 7 दिनों से ज्यादा न रहें।
इन फलों में सर्वाधिक विषहारी क्षमता होती है और संतरे, कीनू, अंगूर, नींबू इनमें शामिल हैं।आप इन्हें ऐसे ही खा सकते हैं, या अन्य फलों में इन्हें मिलाकर खा सकते हैं। एक बार फिर ध्यान दीजिए, केवल फलाहार पर एक बार में लगातार 7 दिनों से ज्यादा न रहें।
*खट्टे फल खाएँ: 
*अंगूर-विषहरण (grape detox) को आजमाइए: 
अंगूर में रिज्वेराट्रोल होते हैं, जो कैंसर और मधुमेह से रक्षा कर सकते हैं, और संभवतः खून के थक्कों को रोक सकते हैं। यह पोटैशियम और विटामिन C का एक बड़ा स्रोत भी है। 3-5 दिनों तक अंगूर के सिवाय कुछ भी न खाएँ।
*ऑर्गेनिक प्रोडक्ट का चयन करें कीटनाशक दवाइयों और विषैले तत्वों के खतरे से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि ऑर्गेनिक फूड का सहारा लिया जाए।
हर्बल चाय का सेवन करें 
पाचन तंत्र की समस्या से निजात पाने के लिए ग्रीन टी या कैमोमाइल टी का सेवन करें। इससे नींद भी अच्छी आएगी। ये चाय शरीर में रक्त संचार को भी बढ़ाता है, जो शरीर से विषैले तत्वों को हटाने में मददगार होते हैं।


सोरायसिस(छाल रोग) के आयुर्वेदिक उपचार 

*हल्का खाना खाएं 
लगातार हल्का आहार लें और करीब एक महीने तक शराब से दूर रहें। इस विधि से न सिर्फ आपकी ऊर्जा बढ़ेगी, बल्कि इससे आपके वजन के साथ-साथ कोलेस्ट्रोल और ब्लड सूगर का स्तर भी कम होगा
हर दिन 45 मिनट व्यायाम करें अपने दिन की शुरुआत ब्रिस्क वॉकिंग, रनिंग, जॉगिंग या साइकलिंग से करें। इससे शरीर के साथ-साथ दिमाग को भी लाभ पहुंचेगा।
*सिर्फ पेय लेकर उपवास करें: 
2-3 दिनों के लिए पेय (पानी, चाय, फलों का रस, सब्जी का रस, और / या प्रोटीन शेक) के अलावा कुछ भी न खाएँ। तरल आहार कैलोरी की मात्रा को सीमित करके वजन घटाने में काफी मदद कर सकते हैं, और माना जाता है कि, कुछ जहरीले तत्वों को बाहर निकालकर ये आपके शरीर की सफाई करते हैं, हालाँकि इस दावे के पक्ष में किसी ठोस अनुसंधान का साक्ष्य नहीं है।
सिर्फ पेय लेकर उपवास के दौरान फल और / या सब्जियों का रस शामिल करना न भूलें, जिससे आपके शरीर को उचित पोषण मिलना निश्चित हो सके।
*आपका लक्ष्य यदि वजन कम करना है, तो पेय उपवास ख़त्म होते ही आपको अपने खाने की आदतों में परिवर्तन करना होगा, वरना आप घटाए गए वजन को जल्दी ही दोबारा हासिल कर लेंगे।
चीनी को कहें ना अगर आप अपने शरीर के मेटाबोलिज्म को बढ़ाना चाहते हैं और इसे विषैले तत्वों से दूर रखना चाहते हैं, तो चीनी सेवन की मात्रा घटा दीजिए। हर तरह के मीठे से जहां तक हो सके दूरी बनाइए।
*खुद का एंटी-ऑक्सीडेंट बनाएं
 ज्यादा से ज्यादा लहसुन और अंडे खाएं। ये सल्फ्यूरिक तत्वों से भरपूर होते हैं। ये तत्व शरीर में ग्लूथाथीओन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट के निर्माण में सहायक होते हैं। ये शरीर में मौजूद रसायन और भारी धातु सहित अन्य विषैले तत्वों को भी बाहर निकाल देते हैं।

छोटे वक्ष को उन्नत और सूडोल बनाएँ

*पर्याप्त मात्रा में पानी पीजिए: 
आपकी सेहत के लिए पर्याप्त पानी आवश्यक है। कई प्रकार के स्वास्थ्य संबंधी फायदों के अलावा, यह आपके शरीर के तरल पदार्थ के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है, जिससे शरीर से मुख्य जहरीले तत्वों, रक्त की यूरिया नाइट्रोजन आदि को बाहर निकालने में गुर्दे को काफी सहायता मिलती है।
नींबू का शरबत पीजिए। पानी में नींबू, संतरा, या मुसम्मी घोलकर दिन भर पीते रहें। इन फलों में साइट्रिक एसिड होता है, जो शरीर की वसा (fat) में कटौती करता है।इसके अतिरिक्त, पानी में स्वाद लाने से रोजाना 8 ग्लास पी पाना आपके लिए आसान हो जाएगा! नींबू से दांतों के अम्लीय क्षय (acid erosion) को रोकने के लिए भोजन के अंतराल में ब्रश करते रहें।
*योग करें 
योग न सिर्फ डीटाक्सीफाइ में मददगार होता है, बल्कि इससे दिमाग को भी फायदा पहुंचता है। हर सुबह आप कुछ साधारण योग करके भी अपने शरीर के विषैले तत्वों से छुटकारा पा सकते हैं।
नाक की करें सफाई हम एक ऐसे वातावरण में रहते हैं, जो धूल और प्रदुषण से भरे पड़े हैं। इससे आपको एलर्जी हो सकती है। इससे बचने के लिए अपने नाक को नियमित रूप से धोएं। ऐसा करने पर वायु प्रदुषक से छुटकारा मिलेगा और नींद भी अच्छी आएगी।
*गहरी सांस लें गहरी सांस लें। इससे स्वास्थ्य बेहतर होने के साथ-साथ पूरे शरीर में ऑक्सीजन का भी अच्छे से संचार होगा।
*सात दिनों तक केवल फल और सब्जियां खायें: फलों और सब्जियों में विटामिन, खनिज तत्व (minerals) और अन्य पोषक तत्व (nutrients) होते हैं, जिनकी जरूरत सेहतमंद रहने के लिए आपके शरीर को पड़ती है। शरीर को उचित मात्रा में आवश्यक पोषक तत्व मिलता रहे, यह निश्चित करने के लिए विविधतापूर्ण आहार लेने का ख़ास ख़याल रखें। अपने 7 दिवसीय उपवास के दौरान क्या खाना है, यह तय करने के लिए आगे बताए गए गाइड का इस्तेमाल कीजिए:
राजमा, काली सेम, सेब, सोयाबीन, ब्लूबेरी, और वज्रांगी (artichoke) से रेशे (fiber) प्राप्त करें।
गाजर, केले, लीमा बीन्स (फली), सफेद आलू, पकाये गए साग, और शकरकंद से पोटैशियम प्राप्त करें।
कीवी, स्ट्रॉबेरी, गोभी, फूलगोभी, टमाटर, संतरा, अंकुरित ब्रसेल्स, आम, और शिमला मिर्च से विटामिन C लें।
पकाई हुई पालक, खरबूजे, शतावरी, संतरे, और लोबिया से फोलेट (folate) प्राप्त कीजिए।
रुचिरा (avocado), जैतून, और नारियल से स्वास्थ्यकारी वसा (good fat) पाइए।
*धीरे-धीरे खाएं खाना 
धीरे-धीरे खाएं। भले ही इसमें ज्यादा समय लगे, पर भोजन को अच्छी तरह से चबाएं। धीरे-धीरे खाने से पाचन की समस्या से निजात मिलेगा और आप अपने भोजन का आनंद भी उठा सकेंगे।
*लेमन जूस पीएं एक ग्लास लेमन जूस पीने से न सिर्फ शरीर शुद्ध होता है, बल्कि इससे शरीर में क्षार की मात्रा भी बढ़ती है। यह एक सर्वश्रेष्ठ डीटाक्स ड्रिंक है। इसलिए ताजे लेमन जूस पीने पर ज्यादा ध्यान दें।
जूस पीएं ताजे फलों और सब्जियों के जूस पीने की मात्रा को बढ़ाएं।
*माइक्रोवेव से बचें खाने को माइक्रोवेव में रखने से इसमें मौजूद प्रोटीन की संरचना बदल जाती है। इसे खाने से शरीर को काफी नुकसान पहुंचता है। इतना ही नहीं, माइक्रोवेव से रेडिएशन भी निकलता है, जो शरीर को नुकसान पहुंचाता है।
*कुछ आदतों को छोड़ें अगर आप सिगरेट और शराब का अधिक सेवन करते हैं, तो यह आदत छोड़ दें। यहां तक की थोड़ा सिगरेट पीना भी शरीर के लिए नुकसानदायक होता है। इसके अलावा, अगर आप शराब पीते हैं, तो इसे जहां तक हो सके, कम से कम पीएं।
*आराम भी करें आलस्य और सुस्ती से छुटकारा पाने के लिए जरूरी है कि आप पर्याप्त नींद लें। इस बात को सुनिश्चित करें कि आप हर दिन 8 घंटे की नींद लेते हों।

बालों के झड़ने और गंजेपन के रामबाण उपचार 

*ध्यान कीजिए : 
कई धर्मों और दर्शन में मन को एकाग्रचित्त करने और मन में शांति-भाव विकसित करने के एक माध्यम के रूप में उपवास का समर्थन है। अपने शरीर को विष-मुक्त करते समय, शिकवे-शिकायतें, क्रोध, उदासी, और अन्य नकारात्मक भावों से अपने आप को दूर करने का प्रयास करें। जिस समय आप खाना बना रहे हैं, या खा रहे हैं, उस समय का उपयोग अपने लक्ष्यों और आकांक्षाओं के बारे में सोचने में करें। एक डायरी या जर्नल में अपनी सोच को परिष्कृत कीजिए।
------------------------------

हर्बल चिकित्सा के उपयोगी आलेख-

पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा  का  अचूक  इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका  के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि 

हस्त मैथुन से उत्पन्न यौन दुर्बलता के उपचार