स्तनों का ढीलापन दूर करने के घरेलु नुस्खे लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
स्तनों का ढीलापन दूर करने के घरेलु नुस्खे लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

20.11.16

7 दिनों में स्तनों का ढीलापन दूर करने के घरेलु नुस्खे //Home remedies to remove the breasts looseness in 7 days





स्त्री के सौन्दर्य में उसके स्तन विशेष भूमिका निभाते हैं. मगर अनेक कारणों के चलते उनके स्तन ढीले पड़ जाते हैं, और ढीले स्तनों से उसका सौन्दर्य फीका पड़ जाता है. आज हम आपको इसी कड़ी में बताने जा रहें है ऐसा रामबाण घरेलु नुस्खा जिसको एक हफ्ते से तीन महीने इस्तेमाल करने से ऐसा नतीजा मिलेगा जो महंगे से महंगी क्रीम भी ना दे पायेगी|
नोट करलें ये घरेलु नुस्खा.
फिटकरी – 5 ग्राम.
कपूर – 2 ग्राम.
राई – 50 ग्राम.
गज पीपली – 30 ग्राम.
ये सब सामान आपको किसी भी पंसारी से बड़ी आसानी से मिल जायेगा.|
सबसे पहले आप फिटकरी कपूर राई और गज पीपली को थोडा पानी मिलाकर अच्छे से खरल कर लीजिये. (ऊपर खरल की तस्वीर दे रखी है) पानी धीरे धीरे मिलाते रहे जिस से ये अच्छे से गाढ़ा लेप बन जाए. ये लेप अभी तैयार है आपके स्तनों को टाइट करने के लिए.
स्तनों का ढीलापन दूर करने के लिए रामबाण घरेलु नुस्खा बनाने की विधि.-

स्तनों पर लगाने की विधि.-

सुबह नहाने के बाद इस लेप को वक्ष स्थल पर हलके हाथ से मसाज करते हुए लगाये. इसकी इतनी मसाज करें के ये त्वचा के अन्दर अवशोषित हो जाए. इसके बाद ये रात को फिर सोने से पहले स्तन धो कर उन पर लगायें. ऐसा करने से एक हफ्ते से तीन महीने के अन्दर ये चमत्कारी रूप से टाइट हो जायेंगे.

कैसे बनाये स्तनों को सुन्दर और सुडौल-

स्त्री की सौंदर्यता को बनाये रखने में उनके स्तन की अपनी विशेष भूमिका मानी जाती है क्योंकि स्तन मण्डल (वक्षस्थल) यदि ढीले और कमजोर होते हैं, तो उसकी शरीर सौंदर्यता कम होती है इसी प्रकार यदि स्तन आकर्षक, पुष्ट और प्राकृतिक रूप से सुडौल होते हैं तो वह नारी की सौंदर्यता को और अधिक निखार देते हैं।
मुनक्का (द्राक्षा) 50 ग्राम को पीसकर चूर्ण बना लें, फिर तज 3 ग्राम, तेजपात 3 ग्राम, नागरमोथा 3 ग्राम, सूखा पोदीना 3 ग्राम, पीपल 3 ग्राम, खुरासानी अजवायन 3 ग्राम, छोटी इलायची 3 ग्राम, तालीस के पत्ते 5 ग्राम, वंशलोचन 5 ग्राम, जावित्री 5 ग्राम, खेतचन्दन 5 ग्राम, कालीमिर्च 5 ग्राम, जायफल 5 ग्राम, सफेद जीरा 7 ग्राम, बिनौला की गिरी 13 ग्राम, लौंग 13 ग्राम, सूखा धनिया 13 ग्राम, पीपल की जड़ 13 ग्राम, खिरनी के बीज 45 ग्राम, बादाम की गिरी 50 ग्राम, पिस्ता 50 ग्राम, सुपारी एक किलो, शहद और चीनी 1-1 किलो और गाय का देशी घी आधा किलो आदि लें। इसके बाद 50 ग्राम पिसा हुआ मुनक्का और सुपारी चूर्ण को गाय के देशी घी में मिलाकर धीमी आग पर भूने, चीनी और शहद को छोड़कर सभी पदार्थो (द्रव्यों) को डाल दें, उसके बाद चीनी और शहद की चाशनी बनाकर मिला दें, फिर उसके बाद सभी चीजों को अच्छी तरह पकाकर उतारकर ठंडा करके सुबह-शाम पिलाने से नारी के स्तनों की सौंदर्यता बढ़ती है और योनि की बीमारियों का नाश और योनि को टाईट करती है।
*असगंध और शतावरी को बारीक पीसकर चूर्ण बनाकर लगभग 2-2 ग्राम की मात्रा में शहद के खाकर ऊपर से दूध में मिश्री को मिलाकर पीने से स्तन आकर्षक हो जाते हैं।
 *कमलगट्टे की गिरी यानी बीच के भाग को पीसकर पाउडर बनाकर दही के साथ मिलाकर प्रतिदिन 1 खुराक के रूप में सेवन करने से स्तन आकार में सुडौल हो जाते हैं।

एक्ज़ीमा के घरेलु उपचार

*जैतून के तेल की स्तनों पर धीरे-धीरे मालिश करने से करने से स्तनों की सुन्दरता बढ़ जाती है।गंभारी की 2 किलोग्राम छाल को पीसकर 16 लीटर पानी में मिलाकर चतुर्थांश काढा बना लें। गम्भारी की 250 ग्राम छाल को पानी के साथ पीसकर चटनी बना लें। गम्भारी के कल्क यानी लई और काढ़े में 1 लीटर तिल का तेल मिलाकर रख लें। इस तेल को रूई में भिगोकर स्तनों पर रखने से, ढीले और लटके हुए स्तन टाईट और सुन्दर हो जाते हैं।
*कमल के बीजों को पीसकर 2 चम्मच की मात्रा में थोड़ी मिश्री मिलाकर बराबर रूप से 4-6 हफ्ते तक सेवन करने से स्तन कस जाते हैं और वे कठोर बन जाएंगे।

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि